22.9 C
Uttarakhand
Wednesday, July 24, 2024

सूर्य ग्रहण 2024:  साल का पहला सूर्य ग्रहण कल, सबसे लंबा होने वाला है यह ग्रहण, जानें इसका असर

सूर्य ग्रहण 2024:  8 अप्रैल 2024 सोमवार यानी कल को सूर्य ग्रहण लगने वाला है। यह इस साल का पहला सूर्य ग्रहण होगा। वैज्ञानिक दृष्टि से देखा जाए तो सूर्य ग्रहण महज एक खगोलीय घटना है, लेकिन धार्मिक दृष्टि से इसे शुभ नहीं माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहण काल के दौरान हमारे आस-पास की हर चीज प्रभावित होती है। ऐसे में कुछ काम करने से बचना चाहिए। आपको बता दें कि सूर्य ग्रहण से पहले 25 मार्च को साल का पहला चंद्र ग्रहण लगा था, जो भारत में दिखाई नहीं दिया था, इसलिए इसका असर भी यहां मान्य नहीं था। ऐसे में लोगों के मन में यह सवाल आ रहा है कि क्या 8 अप्रैल को लगने वाला सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई देगा या नहीं और इसका असर क्या होगा? तो आइए ज्योतिषी चिराग दारूवाला से जानते हैं कि 8 अप्रैल को साल का पहला सूर्य ग्रहण किस समय लगेगा?

यह भी पड़े:लव मैरिज के बाद प्रेमी ने प्रेमिका के सामने रखी शर्त, अपनी छोटी बहन से शारीरिक संबंध बनवाओ तभी दूंगा पत्नी का दर्जा! 

2024 का पूर्ण सूर्य ग्रहण सोमवार को होगा। यह सुबह 11:07 बजे पीटी (दोपहर 2:07 बजे ईटी) पर मैक्सिकन प्रशांत तट पर पहुंचेगा, और फिर टेक्सास से मेन तक और फिर पूर्वी कनाडा में उत्तरपूर्वी दिशा में अमेरिका को पार करेगा। यदि आप इसे अच्छी तरह से देखना चाहते हैं, लेकिन समग्रता के पथ पर नहीं रहते हैं, तो आपको पथ पर किसी स्थान पर यात्रा का आयोजन करने के लिए अधिक समय तक इंतजार नहीं करना चाहिए।

यह भी पड़े: फिर से पीएम बनेंगे नरेंद्र मोदी’, शख्स ने उंगली काट कर देवी काली को चढ़ाई बलि।

आप आकाश में भी एक सीट बुक कर सकते हैं – डेल्टा एयरलाइंस ने दो उड़ानों की पेशकश के लिए सुर्खियां बटोरीं जो आपको समग्रता का पूरा रास्ता देखने की अनुमति देती हैं। ऑस्टिन, टेक्सास से डेट्रॉइट तक की इसकी पहली ग्रहण उड़ान जल्दी ही बिक गई, डेल्टा ने डलास से डेट्रॉइट के लिए दूसरी उड़ान की पेशकश की, जिसमें अभी भी सीटें उपलब्ध हैं। डेल्टा की पांच अन्य उड़ानें भी हैं जो (संयोग से) मुख्य ग्रहण देखने की पेशकश करेंगी।

 1.बिखर सकती हैं रेडियो तरंगें

नासा के मुताबिक, सूर्य ग्रहण का पृथ्वी के बाहरी वायुमंडल की बनावट और गतिशीलता पर प्रभाव पड़ सकता है। चूँकि आयनमंडल में आवेशित कण (आयन और इलेक्ट्रॉन) होते हैं और यह रेडियो तरंगों को परावर्तित और अपवर्तित करने के लिए जिम्मेदार है, ऐसे में ये आयनमंडल में बदलाव रेडियो संचार और नेविगेशन सिस्टम्स को भी प्रभावित कर सकता है। नासा में ग्रहण प्रोग्राम मैनेजर केली कोर्रेक ने कहा, “इस परत में गड़बड़ी जीपीएस और कम्यूनिकेशन के साथ समस्याएं पैदा कर सकती है।”

2. मौसम में अचानक आ सकते हैं बदलाव

ग्रहण के दौरान तापमान अचानक कई डिग्री तक गिर सकता है और हवा की दिशा भी बदल सकती है। 2016 के एक स्टडी मुताबिक, किसी भी प्रकार का ग्रहण हवा को दूसरी दिशा में बहने का कारण बन सकता है। “जब twilight के समय सूरज की रोशनी फीकी पड़ जाती है, तो हम देखते हैं कि चीजें ठंडी होने लगती हैं। नासा ने बताया, पूर्ण सूर्य ग्रहण के दौरान अस्थायी डिमिंग (temporary dimming) के लिए भी यही सच है।” ग्रहण के कारण तूफान भी आ सकता है।

3. बदल सकता है जानवरों का व्यवहार

सूर्य ग्रहण के दौरान, जानवर भ्रमित हो सकते हैं, और रात्रिचर जानवर अपनी आंतरिक घड़ियों में व्यवधान के कारण जग सकते हैं। कुछ पालतू जानवर बस झपकी लेने के लिए दुबक जाते हैं जबकि अन्य चिंतित हो सकते हैं। पहले भी, ग्रहण के दौरान जानवरों का अजीब व्यवहार देखा गया है: जिसमें जिराफ को सरपट दौड़ते देखा गया है, जबकि मुर्गे बांग और झींगुर चहचहाने लगते हैं। नासा ने कहा, “ऐसी भ्रमित शाम से बेवकूफ बनकर पक्षी गाना बंद कर देते हैं, झींगुर चहचहाने लगते हैं और मधुमक्खियां अपने छत्ते में लौट जाती हैं।”

4. शांत हो सकती है प्रकृति

अचानक अंधेरा कई पक्षियों और जानवरों को चुप करा सकता है। टेक्सास यूनिवर्सिर्टी में फिजिक्स और एस्ट्रोनॉमी साइंस के प्रोफेसर एंजेला स्पेक ने कहा कि पक्षी लगभग 20 मिनट बाद झुंड में आना शुरू कर देंगे, जबकि कुछ शांत हो जाएंगे। वहीं, खेत के जानवर, जैसे गाय और मुर्गियां, खलिहान में वापस चले जाएंगे क्योंकि उन्हें लगता है कि अब रात हो गई है। जबकि मधुमक्खियाँ भी भिनभिनाना बंद कर देंगी और अपने छत्ते में लौट जाएंगी।

यह भी पड़े: कम बजट में ज़बरदस्त पिक्सल -Google Pixel 8a की झलक!

Follow us on Google News Follow us on WhatsApp Channel
Manish Negi
Manish Negihttps://chaiprcharcha.in/
Manish Negi एक अनुभवी पत्रकार हैं, जिनके पास राजनीति, अर्थव्यवस्था और सामाजिक मुद्दों जैसे विषयों पर अच्छा ज्ञान है। वे 2 से ज्यादा वर्षों से विभिन्न समाचार चैनलों और पत्रिकाओं के साथ काम कर रहे हैं। उनकी रूचि हमेशा से ही पत्रकारिता और उनके बारे में जानकारी रखने में रही है वे "चाय पर चर्चा" न्यूज़ पोर्टल में विभिन्न विषयों पर ताज़ा और विश्वसनीय समाचार प्रदान करते हैं"

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

42FansLike
15FollowersFollow
1FollowersFollow
60SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles